Breaking

Showing posts with label sports-news-in-hindi. Show all posts
Showing posts with label sports-news-in-hindi. Show all posts

Monday, 2 July 2018

July 02, 2018

हरभजन सिंह की जीवनी - Biography of Harbhajan Singh in Hindi

Harbhajan Singh Biography in Hindi

हरभजन सिंह प्लाहा भारत के अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाडी हैं। वे Indian Premier League के मुम्बई इंडियन्स टीम तथा पंजाब राज्य क्रिकेट टीम (2012-13) के भूतपूर्व कप्तान भी हैं। वे स्पिन गेंदबाजी में निपुण हैं और टेस्ट मैचों में ऑफ-स्पिनर द्वारा सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे स्पिनर हैं।

Harbhajan Singh Hindi Biography (Wiki)

हरभजन को उनके पहले कोच चरनजीत सिंह भुल्लर ने एक बल्लेबाज के तौर पर प्रशिक्षित किया, लेकिन उनके कोच की मौत के बाद उन्हें स्पिन गेंदबाजी में बदल दिया गया क्योंकि उन्हें दवेन्द्र अरोड़ा अरोड़ा हर रोज़ की कामकाजी नैतिकता की सफलता का श्रेय करता है जिसमें सुबह में तीन घंटे का प्रशिक्षण सत्र शामिल था, इसके बाद दोपहर का सत्र 3 बजे से लेकर सूर्यास्त तक तक चले।

2000 में अपने पिता की मृत्यु के बाद, हरभजन परिवार का सिर बन गया, और 2001 तक उनकी तीन बहनों के लिए विवाह का आयोजन किया। 2002 में उन्होंने कम से कम 2008 तक अपनी शादी को ठुकरा दिया था। 2005 में उन्होंने फिर से शादी की अफवाहों को फेरबदल कर बैंगलोर की एक दुल्हन से जोड़ा, जिसमें कहा गया था कि वह "कुछ वर्षों के बाद" केवल निर्णय लेगा, और वह अपने परिवार द्वारा चुनी गई एक पंजाबी दुल्हन की तलाश करें। 

ऐसे देश में जहां क्रिकेटरों को मूर्तियां दी जाती हैं, हरभजन का प्रदर्शन उन्हें सरकार के प्रशंसा और आकर्षक प्रायोजकों को लेकर आया है। 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनके प्रदर्शन के बाद, पंजाब सरकार ने उसे रुपये का भुगतान किया। 5 लाख रूपये, एक भूखंड, और पंजाब पुलिस में एक पुलिस अधीक्षक बनने की पेशकश, जिसे उन्होंने स्वीकार किया।

कंकाबुलरी के साथ काम करने के बावजूद हरभजन ने मार्च 2002 में गुवाहाटी में टीम होटल के बाहर पुलिस के साथ विवाद में मामूली चोट लगी थी। जब हरभजन ने होटल में एक फोटोग्राफर को अनुमति देने से इंकार कर दिया, तो स्कफल टूट गई। हरभजन ने अपनी गेंदबाजी में कटौती की और पुलिस ने जब उसे मारा, तो उसकी कोहनी को घायल कर दिया।

इंडियन क्रिकेट टीम में हरभजन सिंह को भज्जी के नाम से जाना जाता है! हरभजन सिंह का नाम बहुत पापुलर है! हरभजन सिंह के क्रिकेट career में बहुत से विवाद हुए है! हरभजन सिंह के क्रिकेट career में सबसे ज्यादा विवाद तब हुआ था जब हरभजन सिंह ने Andrew Simond को “Monkey” कह दिया था! इस विवाद के कारण हरभजन सिंह के ऊपर कई मैच का प्रतिबन्ध लग गया था! हरभजन सिंह और Andrew Simond के बीच का ये विवाद बहुत काफी time तक चर्चा में रहा! हरभजन सिंह ने अभी तक क्रिकेट से संन्याश नहीं लिए है! और आज भी हरभजन सिंह क्रिकेट मैच खेलते है! हरभजन सिंह का क्रिकेट career बहुत ही successful रहा है

हरभजन सिंह ने 100 से भी ज्यादा टेस्ट मैच खेले है! किसी भी क्रिकेट प्लेयर के लिए 100 से भी ज्यादा टेस्ट मैच खेलना अपने आप में एक रिकॉर्ड है! हरभजन सिंह कई सालों तक भारतीय क्रिकेट टीम के टॉप गेंदबाज रह चुके है! इसके साथ साथ कई ऐसे नाजुक मौके पर हरभजन सिंह ने अपने कमाल की गेंदबाजी से भारत को जीत दिलाई है!

गेंदबाजी के साथ साथ हरभजन सिंह ने कई बार बल्लेबाजी में भी अपना कमाल दिखाया है! हरभजन सिंह को तेज गति की बल्लेबाजी के लिए जाना जाता है! कई अहम् मौके पर हरभजन सिंह ने उपयोगी बल्लेबाजी भी की है!

Harbhajan Singh  Cricket Carrier:

करियर के शुरुवाती दिनों में उनका गेंदबाजी एक्शन चर्चा का विषय बना रहा और क्रिकेट अथॉरिटीज ने उनकी एक्शन पर काफी सवाल भी उठाए थे। उन्होंने अहम मौको पर खुद को भारतीय क्रिकेट का एक महत्वपूर्ण और सफल क्रिकेटर साबित किया। 25 मार्च 1998 को हरभजन सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया और 17 अप्रैल 1998 को न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ उन्होंने एकदिवसीय मैचों में डेब्यू किया।

2002 में भारत के सर्वश्रेष्ट स्पिनर अनिल कुंबले के घायल होने के बाद जब भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने उन्हें बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी की टीम में शामिल किया तो उनके करियर को एक नयी दिशा मिली। इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के साथ-साथ हरभजन ने 32 विकेट लेकर खुद को साबित भी किया और टेस्ट क्रिकेट में हैट-ट्रिक लेने वाले वे पहले भारतीय गेंदबाज बने।

साथ ही 1 दिसम्बर 2006 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हरभजन सिंह ने टी20 में डेब्यू किया। 2008 में आईपीएल में वे मुंबई की तरफ से खेले और अभी भी खेलते है। भारतीय क्रिकेट टीम के लिए उन्होंने बहुत से घरेलु और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेले है। हरभजन सिंह का पसंदीदा खिलाडी सचिन तेंडुलकर है।

सन 2009 में उन्हें भारत सरकार ने पद्म श्री अवार्ड से सम्मानित किया था।

Harbhajan Singh Wickets:

Harbhajan Singh के लाइफ में एक ऐसा भी समय आया, जब उनका बॉलिंग परफ़ोर्मेंस पूरी तरह से बेपटरी हो गया।वह साल था 1999-2000 का। जब उन्हें कई सीरिजों में विकेटों के भीषण सूखे का सामना करना पड़ा। इसके परिणामस्वरूप उन्हें टीम से निकाल दिया गया।पर सन 2000 के मध्य में वे अपने बॉलिंग फॉर्म को सुधारने में कामयाब रहे।उसी साल उन्होंने बोर्ड प्रेसिडेंट 11 की ओर से खेलते हुए साउथ अफ्रीका के खिलाफ दोनों पारियों में क्रमश: 2/88 और 2/59 की अच्छी बॉलिंग फिगर से बॉलिंग किया और 38 और 39 रन भी बनाये।जिसके कारण उनकी टीम साउथ अफ्रीका को हारने में कामयाब रही।पर उन्हें राष्ट्रीय टीम में जगह ना मिला सका। उनकी जगह मुरली कार्तिक को मौका दिया गया।फिर वे भारत लौट आए और घरेलू टीम के लिए खेलने लगे।

कुछ समय बाद वे अपना पुराना लय पाते हुए पंजाब की ओर से खेलते हुए चार फ़र्स्ट क्लास मैच में 24 विकेट्स लिये।इसी बीच उन्हें National Cricket Academy में 1970 में भारतीय टीम का हिस्सा रहे ऑफ स्पिनर श्रीनिवास वेंकटराघवन और इरापली प्रसन्ना से बॉलिंग गुर सीखने को मौका मिला।पर अनुशासनहीनता के कारण उन्हें Academy से निकाल दिया गया।इस कारण Harbhajan Singh का टीम इंडिया में चयन होने का जो भी बची-खुची संभावना थी, वो भी खत्म हो गई।इसी साल उनपर एक बड़ी मुसीबत टूट भी पड़ी, जब उनके पिता का निधन हो गया और उनके 4 कुंवारी बहनों वाले परिवार का इकोनोमी बिगड़ गया।परिवार में अकेले बेटे, हरभजन सिंह पैसा कमाने के लिए अमेरिका में ट्रक चलाने की सोचने लगे।ऐसे में वर्तमान कप्तान बंगाल टाइगर सौरव गांगुली सामने आए। वे उनकी टीम में सेलेकशन के लिए लगातार लड़ते रहे।

Thursday, 14 June 2018

June 14, 2018

FIFA फुटबॉल विश्व कप 2018 Schedule, Fixtures: यहां जानिए फीफा विश्व-2018 का पूरा शिड्यूल

FIFA फुटबॉल विश्व कप 2018 Schedule, Fixtures: यहां जानिए फीफा विश्व-2018 का पूरा शिड्यूल

2018 फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन इस बार रूस में किया जा रहा है, जबकि साल 2022 में फुटबॉल फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन क़तर में किया जायेगा. इस साल यह टूर्नामेंट 14 जून से 15 जुलाई, 2018 तक चलेगा.

फीफा का पूरा नाम (FIFA Full Form) फीफा का पूरा नाम The Fédération Internationale de Football Association है. फीफा फुटबॉल का वर्ल्ड कप होता है.

फीफा वर्ल्ड कप मैच 2018 का आयोजन वाले शहर (Which country will host the 2018 FIFA World Cup)

फीफा विश्व का आयोजन रूस के 11 शहरों में किया जाएगा, जबकि इसका फाइनल मैच मॉस्को शहर में होगा. नीचे रूस के उन शहरों के नाम बताएं गए हैं यहां पर इसके मैचों का आयोजन होगा-

फीफा विश्व कप- 2018 Schedule:

14 जून – रूस बनाम सऊदी अरब, (रात 8:30)
15 जून – मिस्त्र बनाम उरुग्वे, (शाम 5:30)
15 जून – मोरक्को बनाम ईरान, (रात 8:30)
15 जून – पुर्तगाल बनाम स्पेन, (रात 11:30)
16 जून – फ्रांस बनाम ऑस्ट्रेलिया, दोपहर 3:30)
16 जून – अर्जेंटीना बनाम आइसलैंड, (शाम 6:30)
16 जून – पेरू बनाम डेनमार्क, (रात 9:30)
16 जून – क्रोएशिया बनाम नाइजीरिया, देर (रात 12:30)
17 जून – कोस्टा रिका बनाम सर्बिया, (शाम 5:30)
17 जून – जर्मनी बनाम मैक्सिको, (रात 8:30)
17 जून – ब्राजील बनाम स्विट्जरलैंड, (रात 11:30)
18 जून – स्वीडन बनाम कोरिया रिपब्लिक, (शाम 5:30)
18 जून – बेल्जियम बनाम पनामा, (रात 8:30)
18 जून – ट्यूनीशिया बनाम इंग्लैंड, (रात 11:30)
19 जून – कोलंबिया बनाम जापान, (शाम 5:30)
19 जून – पोलैंड बनाम सेनेगल, (रात 8:30)
19 जून – रूस बनाम मिस्त्र, (रात 11:30)
20 जून – पुर्तगाल बनाम मोरक्को, (शाम 5:30)
20 जून – उरुग्वे बनाम सऊदी अरब, (रात 8:30)
20 जून – ईरान बनाम स्पेन, (रात 11:30)
21 जून – डेनमार्क बनाम ऑस्ट्रेलिया, (शाम 5:30)
21 जून – फ्रांस बनाम पेरू, (रात 8:30)
21 जून – अर्जेंटीना बनाम क्रोएशिया, (रात 11:30)
22 जून – ब्राजील बनाम कोस्टा रिका, (शाम 5:30)
22 जून – नाइजीरिया बनाम आइसलैंड, (रात 8:30)
22 जून – सर्बिया बनाम स्विट्जरलैंड, (रात 11:30)
23 जून -बेल्जियम बनाम ट्यूनीशिया, (शाम 5:30)
23 जून -कोरिया रिपब्लिक बनाम मैक्सिको, (रात 8:30)
23 जून -जर्मनी बनाम स्वीडन, (रात 11:30)
24 जून – इंग्लैंड बनाम पनामा, (शाम 5:30)
24 जून – जापान बनाम सेनेगल, (रात 8:30)
24 जून -पोलैंड बनाम कोलंबिया, (रात 11:30)
25 जून – उरुग्वे बनाम रूस, (शाम 7:30)
25 जून – सऊदी अरब बनाम मिस्त्र, (शाम 7:30)
25 जून – ईरान बनाम पुर्तगाल, (रात 11:30)
25 जून – स्पेन बनाम मोरक्को, (रात 11:30)
26 जून – डेनमार्क बनाम फ्रांस, (शाम 7:30)
26 जून – ऑस्ट्रेलिया बनाम पेरू, (शाम 7:30)
26 जून – नाइजीरिया बनाम अर्जेंटीना, (रात 11:30)
26 जून – आइसलैंड बनाम क्रोएशिया, (रात 11:30)
27 जून – मैक्सिको बनाम स्वीडन, (शाम 7:30)
27 जून – कोरिया रिपब्लिक बनाम जर्मनी, (शाम 7:30)
27 जून – सर्बिया बनाम ब्राजील, (रात 11:30)
27 जून – स्विट्जरलैंड बनाम कोस्टा रिका, (रात 11:30)
28 जून – जापान बनाम पोलैंड, (शाम 7:30)
28 जून – सेनेगल बनाम कोलंबिया, (शाम 7:30)
28 जून – पनामा बनाम ट्यूनीशिया, (रात 11:30)
28 जून – इंग्लैंड बनाम बेल्जियम, (रात 11:30)

प्री क्वार्टर फाइनल (राउंड ऑफ 16):

30 जून, पहला प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप सी) बनाम रनर अप (ग्रुप डी), (रात 11:30)
30 जून, दूसरा प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप ए) बनाम रनर अप (ग्रुप बी), (शाम 7:30)
1 जुलाई, तीसरा प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप बी) बनाम रनर अप (ग्रुप ए), (शाम 7:30)
1 जुलाई, चौथा प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप डी) बनाम रनर अप (ग्रुप सी), (शाम 11:30)
2 जुलाई, पांचवां प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप ई) बनाम रनर अप (ग्रुप एफ), (शाम 7:30)
2 जुलाई, छठा प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप जी) बनाम रनर अप (ग्रुप एच), (शाम 11:30)
3 जुलाई, सातवां प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप एफ) बनाम रनर अप (ग्रुप ई), (शाम 7:30)
3 जुलाई, आठवां प्री-क्वॉर्टर फाइनल- विनर (ग्रुप एच) बनाम रनर अप (ग्रुप जी), (शाम 11:30)

क्वार्टर फाइनल( राउंड ऑफ 8):

6 जुलाई, पहला क्वॉर्टर फाइनल- विनर पहला प्री-क्वार्टर बनाम विनर दूसरा प्री-क्वार्टर, (शाम 7:30)
6 जुलाई, दूसरा क्वॉर्टर फाइनल- विनर पांचवां प्री-क्वार्टर बनाम विनर छठा प्री-क्वार्टर, (रात 11:30)
7 जुलाई , तीसरा क्वॉर्टर फाइनल- विनर तीसरा प्री-क्वार्टर बनाम विनर चौथा प्री-क्वार्टर, (रात 11:30)
7 जुलाई, चौथा क्वॉर्टर फाइनल- विनर सातवां प्री-क्वार्टर बनाम विनर आठवां प्री-क्वार्टर, (रात 7:30)

सेमीफाइनल:

10 जुलाई, पहला सेमीफाइनल- विनर पहला क्वार्टर फाइनल बनाम विनर दूसरा क्वार्टर फाइनल, (रात 11:30)
11 जुलाई, दूसरा सेमीफाइनल- विनर तीसरा क्वार्टर फाइनल बनाम विनर चौथा क्वार्टर फाइनल, (रात 11:30)

फाइनल:

15 जुलाई, (रात 8:30)

Friday, 2 March 2018

March 02, 2018

RR Team 2018 Players List: इंडियन प्रीमियर लीग सीजन-11 में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलेंगे ये प्लेयर्स…

RR Team 2018 Players List

RR Team 2018 Players List: इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स इंडियन प्रीमियर लीग सीजन-11 की नीलामी में सबसे महंगे खिलाड़ी रहे हैं। उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने 12.5 करोड़ की कीमत में खरीदा। वहीं दिल्ली के लिए पिछले सीजन में खेलने वाले संजू सैमसन इस बार राजस्थान के लिए खेलते नजर आएंगे। राजस्थान ने उनके लिए आठ करोड़ रुपये की कीमत दी है। सैमसन पहले भी राजस्थान के लिए खेल चुके हैं।

पंजाब ने ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को 7.6 करोड़ रुपये की कीमत में अपने साथ जोड़ा। वह पहले चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते थे, लेकिन चेन्नई ने उन्हें रिटेन नहीं किया था। पंजाब ने अश्विन को खरीदने में चेन्नई और राजस्थान को मात दी। वहीं शिखर धवन (हैदराबाद), केरन पोलार्ड (मुंबई) अंजिक्य रहाणे (राजस्थान रॉयल्स) और फाफ डु प्लेसिस (चेन्नई) को उनकी पुरानी टीमों ने अपने साथ ही रखा है।

बता दें कि भारत के युवा तेज गेंदबाद जयदेव उनादकट इस वर्ष इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नीलामी में सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए हैं। उन्हें यहां रविवार को राजस्थान रॉयल्स ने 11.5 करोड़ रुपये में खरीदा। उनादकट को खरीदने के लिए राजस्थान रॉयल्स को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर), किंग्स इलेवन पंजाब (केएक्सआईपी) और चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) से कड़ी टक्कर मिली।

राजस्थान रॉयल्स:

आर्यमान बिरला – 30 लाख
मिधुन एस – 20 लाख
स्टुअर्ट बिन्नी – 50 लाख
अजिंक्य रहाणे – 4 करोड़
धवल कुलकर्णी – 75 लाख
डार्ची शॉर्ट – 4 करोड़
जोस बटलर – 4.40 करोड़
बेन स्टोक्स – 12.50 करोड़
बेन लाफलिन – 50 लाख
जतिन सक्सेना – 20 लाख
श्रेयस गोपाल – 20 लाख
अनुरीत सिंह – 30 लाख
जयदेव उनादकट – 11.50 करोड़
अंकित शर्मा – 20 लाख
गौवतथम कृष्णअप्पा – 6.20 करोड़
संजू सैमसन – 8 करोड़
राहुल त्रिपाठी – 3.40 करोड़
प्रशांत चोपड़ा – 20 लाख
दुश्मंथा चमीरा -50 लाख
जोफ्रा आर्चर – 7.2 करोड़
जहीर खान – 60 लाख
महिपाल लोमरोर – 20 लाख
स्टीवन स्मिथ – 12.50 करोड़


Also Read:
 IPL Aution 2018: जानें कब और कहाँ देखें आईपीएल के खिलाडियों की नीलामी 
 Chaitra Navratri Calendar 2018: चैत्र नवरात्र कलैन्डर 2018 
 सौभाग्य और ऐश्वर्य के लिए आजमाएं हनुमान जी के यह उपाय

Thursday, 25 January 2018

January 25, 2018

IPL Aution 2018: जानें कब और कहाँ देखें आईपीएल के खिलाडियों की नीलामी


IPL Auction


IPL 2018 AUCTION: इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन की नीलामी के लिए 27 और 28 जनवरी को बेंगलुरु में मंडी सजने वाली है. इस साल नीलामी में कुल 578 खिलाड़ी शामिल होंगे. जिसमें कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर शामिल हैं.

सीजन 11 के लिए लगभग एक हजार से अधिक खिलाड़ियों ने नीलामी के लिए पंजीकरण किया था. सभी खिलाड़ियों को उनके प्रोफाइल के आधार पर आठ स्लैब में रखा गया है.

इन आठों स्लैब में अंतरराष्ट्रीय स्तर के भारतीय और विदेशी दोनों खिलाड़ी शामिल होंगे. पहले स्लैब के खिलाड़ियों का बेस प्राइज 2 करोड़ रुपए का होगा. दूसरे स्लैब में 1.5 करोड़, तीसरे स्लैब में 1 करोड़, चौथे स्लैब में 75 लाख जबकि पांचवे स्लैब का मूल्य 50 लाख रुपए होगा.

स्टोक्स, अश्विन और गंभीर बने मार्की प्लेयर

इसके अलावा बांकि तीन स्लैब में अनकैप्ड खिलाड़ी होंगे जिसका बेस प्राइज 40 लाख, 30 लाख और 20 लाख रुपए होगा.

किस टीम के पास कितना पैसा

आईपीएल सीजन 11 की नीलामी में खर्च करने की अधिकतम राशि 80 करोड़ रुपए है. इससे पहले रिटेनशन पॉलिसी के तहत सभी टीमों ने कुछ खिलाड़ियों को अपनी टीम में रिटेन किया, जिसकी वजह से नीलामी में अब बचे हुए पैसे से ही टीमें खिलाड़ियों पर बोली लगा पाएंगे.

रिटेनशन में सबसे अधिक पैसे खर्च करने के मामले में चेन्नई सुपरकिंग्स, मुंबई इंडियंस, दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम रही. इन सभी टीमों ने तीन-तीन खिलाड़ियों को रिटेन कर 80 करोड़ में से अपने 33 करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं. अब इन चारों टीमों के पास नीलामी में सिर्फ 47 करोड़ रुपए बचे हैं.

इसके अलावा नीलामी में जो सबसे अधिक पैसे के साथ बोली लगाने उतरेगी वो टीम राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की है, जिन्होंने रिटेनशन में सिर्फ एक-एक खिलाड़ियों को रिटेन किया है. रिटेनशन के बाद इन दोनों टीमों के पास 67.5 करोड़ रुए बचे हुए हैं.

वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद ने दो-दो खिलाड़ियों को रिटेन किया है और नीलामी में दोनों टीमें 59 करोड़ रुपए के साथ खिलाड़ियों पर दांव लगाएंगे.

नीलामी में राइट टू मैच कार्ड पर भी रहेगी नजर

नीलामी के दौरान राइट टू मैच कार्ड के जरिए भी टीम मालिक खिलाड़ियों पर अपना दांव लगाएंगे. आईपीएल सीजन 11 के नए नियम के अनुसार सभी टीमों को कम से कम तीन राइट टू मैच कार्ड का विकल्प मिला है. उदाहरण के लिए जिन टीमों ने रिटेनशन में तीन खिलाड़ियों को रिटेन किया है वो नीलामी में सिर्फ दो राइट टू मैच कार्ड का उपयोग कर पाएगी.

राइट टू मैच कार्ड सभी फ्रेंचाइजियों को दिया गया है. यह उनके पास नीलामी के दौरान बिक चुके अपने पुराने खिलाड़ी को खरीद सकने का मौका होगा. उन्हें इसके लिए खिलाड़ी को खरीदने के लिए नीलामी खत्म होने के बाद लगी सबसे ऊंची बोली की बराबरी करनी होगी.

ऐसे में सीएसके, आरसीबी, मुंबई इंडियंस और दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम नीलामी में दो खिलाड़ियों पर राइट टू मैच कार्ड का प्रयोग कर सकती है जबकि कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद को तीन आरटीएम मिलेगी वहीं सबसे अधिक राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के पास चार राइट टू मैच कार्ड है.

कब और कहाँ देखें आईपीएल की नीलामी

आईपीएल सीजन 11 के नीलामी की पल-पल की लाइव खबरें आप वाह क्रिकेट पर देख सकते हैं. जहां नीलामी से लेकर हर टीम की खबरें होंगी. नीलामी का लाइव टेलिकास्ट पहली बार ब्रॉडकास्त स्पोंसर बने स्टार स्पोर्ट्स पर देख सकते हैं. स्टार अपने हर चैनल पर अलग अलग भाषाओं में दिखाएंगा. इसके अलावा आप ऑक्शन को हॉटस्टार पर भी देख सकते हैं.

ऑक्शन की शुरुआत सुबह 9 बजे ITC गार्डेनिया में होगी.
January 25, 2018

Ind vs SA 3rd Test: साउथ अफ्रीका को जल्द लगा पहला झटका, भारत ने की मैच में वापसी


Ind vs SA 3rd Test
दक्षिण अफ्रीका ने वंडर्स स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच के पहले दिन भारत को पहली पारी में 187 रनों पर ही समेट दिया। इसके जवाब में साउथ अफ्रीका अपना पहला विकेट जल्द खो दिया। फिलहाल एल्गर और कगीसो रबाडा क्रीज पर मौजूद हैं। भारतीय टीम दिन के आखिरी सत्र में कुल 76.4 ओवर खेल कर पवेलियन लौट गई। भारत ने पहले और दूसरे सत्र में दो-दो विकेट खोए थे, जबकि तीसरे सत्र में उसने अपने बाकी के छह विकेट खो दिए। मेहमान टीम की तरफ से कोहली ने सबसे ज्यादा 54 रन बनाए। उनके अलावा पुजारा ने 50 रनों की पारी खेली। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 84 रनों की साझेदारी को अंजाम दिया।

इसके बाद कोई और बड़ी साझेदारी नहीं हो सकी और भारतीय टीम सस्ते में निपट गई। उसके सिर्फ तीन बल्लेबाज ही दहाई के आंकड़े तक पहुंच सके। कोहली और पुजारा के अलावा भुवनेश्वर कुमार ने 30 रनों की पारी खेली। दक्षिण अफ्रीका के लिए कागिसो रबादा ने तीन विकेट लिए। मोर्ने मोर्केल, वर्नोन फिलेंडर, लुंगी नगिडी को दो-दो सफलताएं मिलीं। अंदिले फेहुल्क्वायो को एक विकेट मिला।

–पहले दिन का खेल समाप्त हो चुका है। भारत ने पहली पारी में 187 रन बनाए, जिसके जवाब में साउथ अफ्रीका 1 विकेट के नुकसान पर 6 रन बना चुका है। क्रीज पर कगीसो रबाडा और एल्गर मौजूद हैं।

–साउथ अफ्रीका को महज 3 रन पर मार्करम के रूप में झटका लग चुका है। भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर मार्करम अपना कैच पार्थिव पटेल को थमा बैठे। नाइट वॉचमैन के रूप मेें क्रीज पर कगीसो रबाडा आ चुके हैं।

-साउथ अफ्रीका की ओर से एल्गर और मार्करम क्रीज पर आ चुके हैं। भारत को मैच में वापसी के लिए बेहद कसी हुई गेंदबाजी करनी होगी। साउथ अफ्रीका संभलकर खेलती दिख रही है। साउथ अफ्रीका- 3/0 (1)

–भुवनेश्वर कुमार, कगीसो रबाडा की गेंद पर आउट। इसी के साथ भारत महज 187 रन पर ऑलआउट हो चुका है।

-भारत अपने नौ विकेट खो चुका है। फिलहाल भुवनेश्वर कुमार 21 रन बनाकर क्रीज पर टिके हुए हैं। भारत की पहली पारी पूरी तरह से विफल साबित रही है। इसी बीच भुवनेश्वर कुमार का कैच छूटा। भारत- 179/9 (74)

–भारत को 144 रन पर सातवां झटका लग चुका है। हार्दिक पांड्या 5 गेंदों में बगैर खाता खोले एंडिले फेहुलक्वायो का शिकार बने। भारत की हालत बेहद नाजुक हो चुकी है।

-भारत की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी है। चेतेश्वर पुजारा 50 रन के स्कोर पर एंडिले फेहुलक्वायो की गेंद पर अपना कैच विकेटकीपर को थमा बैठे। साउथ अफ्रीका को पांचवीं सफलता मिल चुकी है। भारत- 144/5 (61.3)

-भारत ने 60 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 141 रन बना लिए हैं। पार्थिव पटेल 1, जबकि पुजारा 48 रन बनाकर खेल रहे हैं। दूसरे टेस्ट में पार्थिव पटेल कुछ खास नहीं कर सके थे। इस मैच में उन्हें खुद को साबित करने की जरूरत है।

-भारत का चौथा विकेट गिर चुका है। अजिंक्य रहाणे, मोर्ने मोर्कल की गेंद पर पगबाधा आउट। साउथ अफ्रीका ने मैच में शानदार पकड़ बना ली है। टीम इंडिया के लिए संकट साफ नजर आता हुआ। भारत- 113/4 (51.4)

–भारत को तीसरा झटका लग चुका है। लुंगी नगिडी ने कोहली को 106 गेंदों में 54 रन बनाकर डिविलियर्स को अपना कैच थमा बैठे। भारत की पारी एक बार फिर से लड़खड़ाती दिख रही है।

–विराट कोहली ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया है। कोहली बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे हैं। अब देखना होगा कि क्या वो फिफ्टी को सेंचुरी में तब्दील कर सकेंगे या नहीं। भारत- 97/2 (42.1)

-कोहली अर्धशतक से महज 3 रन दूर हैं। वहीं पुजारा ने 20 रन बना लिए हैं। साउथ अफ्रीका इस सेशन में 2-3 विकेट चटकाना चाहेगा। टीम इंडिया एक बार फिर से विराट कोहली के दम पर नजर आ रही है। भारत- 84/2 (37)

-भारत दूसरी पारी में शानदार तरीके से खेलता हुआ। कोहली 73 गेंदों में 34 रन बना चुके हैं। वहीं चेतेश्वर पुजारा धीमा ही सही मगर बेहद संभलकर खेलते दिख रहे हैं। भारत- 65/2 (33.2)

-दूसरे सेशन की शुरुआत हो चुकी है। भारत की ओर से विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा दोनों ही मैदान पर आ चुके हैं। भारत इस सत्र में बगैर कोई विकेट गंवाए 100-150 रन बनाना चाहेगा। भारत- 46/2 (28)

–भारत ने पहली इनिंग में 2 विकेट के नुकसान पर 45 रन बना लिए हैं, जिनमें 8 रन एक्स्ट्रा से हैं। इस सेशन कुल 27 ओवर का खेल हो सका है। ये सत्र साउथ अफ्रीका के नाम रहा है।

-कप्तान विराट कोहली ने टीम इंडिया को काफी हद तक संभाल लिया है। वहीं पुजारा ने 52वीं गेंद पर अपना खाता खोला। कोहली 52 गेंदों में 24 रन बनाकर खेल रहे हैं। भारत- 45/2 (26)

-कोहली बेहद संभलकर खेल रहे हैं। दूसरे मैच की पहली पारी में भी कोहली ने कप्तानी पारी खेलते हुए 151 रन बनाए थे लेकिन दूसरे छोर पर कोई भी खिलाड़ी टिक नहीं सका था। भारत- 19/2 (13)

–कगीसो रबाडा की गेंद पर मुरली विजय, क्विंटन डि कॉक को अपना कैच थमा बैठे। भारत को इसी के साथ दूसरा झटका लग चुका है। एक बार फिर टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही है। मैदान पर कप्तान कोहली आ चुके हैं। भारत- 13/2 (8.4)

-मैदान पर इस वक्त भारत की ओर से मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर मौजूद हैं। शुरुआती विकेट खोने के बाद भारत को फिलहाल बेहद संभलकर खेलने की जरूरत है। भारत- 12/1 (7)

–फिलेंडर ने दक्षिण अफ्रीका को पहला विकेट दिलाया। केएल राहुल अंदर आती गेंद पर बल्‍ला अड़ा बैठे, विकेटों के पीछे डि कॉक ने कोई गलती नहीं की। राहुल ने 0 रन बनाए।

– पहले ओवर की चौथी गेंद पर गेंद मुरली विजय के बल्‍ले का मोटा किनारा लेकर गली और मिड-ऑन के बीच से 4 रन के लिए चली गई। पांचवी गेंद पर विजय ने डाउन द ग्राउंड शानदार चौका लगाया। पहले ओवर के बाद स्‍कोर 9-0

– केएल राहुल के साथ मुरली विजय भारतीय पारी की शुरुआत करेंगे। भारत सिर्फ 5 विशेषज्ञ बल्‍लेबाजों के साथ खेल रहा है। मेजबान टीम की ओर से मोर्ने मोर्केल गेंदबाजी आक्रमण की शुरुआत कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका ने भी किसी स्पिनर को टीम में जगह नहीं दी है। वर्नोन फिलांडर आज अपना 50वां मैच खेल रहे हैं।

– कोहली और कोच रवि शास्त्री टीम की गेंदबाजी से तो निश्चिंत होंगे, लेकिन बल्लेबाजों को असफल होना उन्हें अखर रहा होगा। ऐसे में टीम का पूरा ध्यान इस समय बल्ले से बड़ा स्कोर करने पर होगा। बल्लेबाजों ने कई बार गलत शॉट खेल कर अपने विकेट गंवाए हैं। टीम प्रबंधन ने जरूर इस पर बात की होगी। उसके बल्लेबाजों को किसी भी हालत में अफ्रीकी चौकड़ी से निपटना होगा।

– आक्रामक कप्तान विराट कोहली की टीम की कोशिश इस टेस्ट मैच को जीत या ड्रॉ कराते हुए वनडे सीरीज की शुरूआत से पहले मानसिक बढ़त लेने की होगी। हालांकि किसी भी लिहाज से उसके लिए यह आसान नहीं होगा।

– भारत के लिए यह दौरा अभी तक चुनौतियों से पूर्ण रहा है। केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में मेजबान टीम के तेज गेंदबाजों के सामने भारत का मजबूत बल्लेबाजी क्रम ताश के पत्तों की तरह ढह गया तो वहीं दूसरे टेस्ट मैच में अपने देश से थोड़ी अनुकूल स्थिति कि विकेट पर भी भारत जीत हासिल नहीं कर सका। तीसरे मैच में जिस विकेट पर भारत को दक्षिण अफ्रीका के साथ खेलना है वो भी तेज गेंदबाजों की मददगार मानी जा रही है। ऐसे में मेजबान टीम का गेंदबाजी आक्रमण भारत को एक बार फिर नाको चने चबबा सकता है।