Breaking

Friday, 9 March 2018

घरों में है अगरबत्ती का खास महत्व, फायदे जानकर दंग रह जाएंगे आप

beenfits of aggarbatti

कहते हैं घर एक मंदिर होता है। कहना भी सही है क्योंकि घर ही वो स्थान है जहां हम अपने पूरे परिवार के साथ मिलकर रहते हैं लेकिन ये घर तभी मंदिर बन सकता है जब उसमें सकारात्मक शक्तियों का वास हो और ईट-पत्थर से बने एक मकान को हमें ही अपने प्रयासो से घर बनाना पड़ता है।

इसके लिए घर में सदस्यों के प्रति सम्मान और प्रेम भाव होना चाहिए, बड़ो का आशीर्वाद होना चाहिए और पूजा-पाठ का होना भी अति आवश्यक है क्योंकि पूजा के दौरान उच्चारित किए गए मंत्र सकारात्मक शक्तियों को खींचती है और नकारात्मक शक्तियों को दूर करती है।

पूजा में प्रयोग किए गए धूपबत्ती का भी अपना अलग महत्व है क्योंकि ये न केवल घर को सुंगधित करते हैं बल्कि इनके और भी लाभ है। विद्वानों का ऐसा कहना है कि अगरबत्ती को जलाने में इंसान के मन में शान्ति आती है।

आपको बता दें कि अगरबत्तियों का भी अपना अलग ही महत्व है और इनके बारे में ही हम आज आपको बताने जा रहे हैं। मान लीजिए यदि आपके घर में नकारात्मक शक्तियों का वास हो। किसी काम में मन न लग रहा हो।

घर में कलेश हो तो उस स्थिति में पीली सरसों, गुगल,लोबान और गाय के घी को मिलाकर इसकी धूप बना लें और सूर्यास्त के बाद इस धूप को जलाकर इसके धुएं को पूरे घर में फैला दें। ऐसा 21 दिन तक करने से आपको खुद इसका फर्क महसूस होगा।

इसके साथ ही मानसिक तनाव को कम करने के लिए गुड़ और घी के धूप को जलाएं। इस तरह के धूप को अग्रिहोत्र भी कहकर बुलाते हैं।

हर गुरूवार और रविवार के दिन गुड़ और घी को मिलाकर उसे कंडे पर जलाएं। यदि आपका मन हो तो आप इसमें पके हुए चावल भी मिला सकते हैं। इससे पूरा घर सुगंधित हो जाता है और इसके साथ ही मन शान्त और एकाग्र होता है।

इसके अलावा लोबान के धूप को भी जला सकते हैं। इसके लिए मिट्टी के बने एक जगह में लोबान और नारियल के छिलकों को एकत्रित कर उसे जला लें और उसे हल्के हाथों से हवा देते रहे।

इससे धुआं जब ज्य़ादा मात्रा में निकलने लगे तो उसे पूरे घर में फैला दें। इसके दो लाभ है एक तो इससे घर में सकारात्मकता फैलती है और कीड़े-मकौड़े, मक्खियां भी घर में नहीं भटकती है।

No comments:

Post a Comment